सुनील चौधरी ने किया युवाशक्ति परिवर्तन सम्मेलन का आयोजन, युवाओं का मिल रहा भरी समर्थन

शिव मंदिर धर्मशाला बद्रीपुर में युवाशक्ति परिवर्तन सम्मेलन का आयोजन सुनील चौधरी की अध्यक्षता में किया गया। सर्वप्रथम ज्योति प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इस सम्मलेन में पांवटा विधानसभा के सैंकड़ों युवाओं ने भाग लिया। हलांकि पुलिस ने कार्यक्रम के बीच में ही कार्यक्रम को रोकने का प्रयास किया ,परन्तु युवाओं के हौसले के आगे कुछ कर नहीं पाए।

 मंच का संचालन करते हुए रवि रोजा ने कहा कि आज पांवटा साहिब औद्योगिक क्षेत्र होने के बावजूद भी यहां का युवा रोजगार के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है, परंतु हमारे नेता कंपनियों से मिलीभगत होने के कारण किसी भी युवा को कंपनियों में रोजगार दिलाने में सफल नहीं हो पाए हैं। उन्होंने कहा कि इस बार पांवटा की जनता परिवर्तन मांग रही है, और युवा चेहरे के तौर पर सामाजिक कार्यकर्ता सुनील चौधरी को पांवटा क्षेत्र की बागडोर मिलनी चाहिए तभी पांवटा विधानसभा एक आदर्श विधानसभा बन पाएगी। उन्होंने कहा कि आज इस बैठक में स्थानीय मुद्दों व प्रतिदिन आने वाली समस्याओं पर चर्चा की गई और युवाओं का जोश देखते हुए ऐसा प्रतीत हो रहा की इस बार परिवर्तन होना तय है। 

    बलजीत चौधरी ने कहा कि सरकारी हॉस्पिटल में केवल मात्र बिल्डिंग बनाकर छोड़ दी गई है और कोई भी सुविधा आम जनमानस को नहीं मिल पा रही है। सरकारी स्कूलों की संख्या बढ़ाई जा रही है, परंतु लोगों अपने बच्चो को सरकारी स्कूलों में शिक्षा ग्रहण करने के लिए जागरूक नहीं किया जा रहा है ।
 प्रमोद चौधरी ने कहा पांवटा में किसी प्रकार के भी खेलकूद मैदान का निर्माण पिछले 25 वर्षों में नहीं किया गया है। इसके अलावा पांवटा शहर में शौचालयों की बहुत बुरी हालत है और कई सार्वजनिक जगहों पर तो शौचालय निर्माण है ही नही, जिससे स्थानीय लोगों व राहगीरों को समस्या उत्पन होती है। भूमिहीन परिवारों को पक्के घर नहीं मिल पा रहे हैं। शहर आज भी सीवरेज व जलभराव की समस्या से ग्रसित है।लाखों रुपए का भ्रष्टाचार सीवरेज के नाम पर प्रतिवर्ष होता है।

  कमलजीत सिंह ने कहा 21वीं सदी में भी आज भी  विधानसभा क्षेत्र के लोग पीने के पानी और सिंचाई को तरस रहे है। केवल चेहेतो को ही विकास नजर आ रहा है ।आम जनमानस आज भी मूलभूत सुविधाओं से दूर है।बैठक को संबोधित करते हुए सुनील चौधरी ने कहा सरकारी कर्मचारी आज ओल्ड पेंशन स्कीम की मांग कर रहे हैं, परन्तु कोई सुनने को तैयार नहीं है। अगर सरकारी कर्मचारियों को पेंशन देने के लिए सरकार के पास बजट उपलब्ध नहीं था, तो सभी नेताओं को भी अपनी पेंशन बंद कर देनी चाहिए ।और शिक्षा क्षेत्र में बड़े-बड़े दावे करने वाले सभी प्रतिनिधियों को भी अपने बच्चों को सरकारी विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण करने के लिए भेजना चाहिए ,जिससे कि शिक्षा के क्षेत्र में भी सुधार होने की संभावनाएं बढ़ जाएगी। पांवटा क्षेत्र को नशा मुक्त व भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के संकल्प के साथ आगे बढ़ेग।

  राजेश गुप्ता, चेतन चौधरी ने कहा कि नदियों से भारी मात्रा में अवैध खनन किया जा रहा है। आगामी समय में सरकार से मांग उठाएंगे की नदी नालों से रॉयल्टी को पुनः शुरू किया जाए, ताकि आम आदमी ,किसान, मजदूर भी सस्ते दामों पर अपने घरों के लिए निर्माण सामग्री प्राप्त कर सके। इसके अलावा पर्यटन के क्षेत्र में भी उचित कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा जिस दिन सरकारी अस्पतालों और सरकारी विद्यालयों में जनप्रतिनिधि अपने परिवार के लोगों का इलाज व प्राथमिक स्तर से शिक्षा दिलवाना शुरू कर देंगे, उसी दिन इन क्षेत्रों में सुधार होना शुरू हो जाएगा।

    युवाशक्ति परिवर्तन सम्मेलन में उपस्थित सभी युवाओं ने एक स्वर में कहा कि अगर इस बार सुनील चौधरी को पांवटा विधानसभा से जीता कर विधानसभा भेजेंगे। विदित रहे कि सुनील चौधरी ने भारतीय जनता पार्टी से टिकट की मांग की है अगर किसी कारण टिकट नहीं मिलता तो आजाद प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लडा जाएगा। उन्होंने एक संकल्प लिया है की पांवटा विधानसभा का सेवक चुने जाने के उपरांत किसी प्रकार की तनख्वाह व पेंशन भविष्य में कभी नहीं लेंगे।

   इस मौके पर अधिवक्ता नरेश चौधरी रवि रोजा, राज चौधरी, अजय चौधरी चेतन चौधरी,  राजेश गुप्ता, मयंक चौहान, गोपाल शर्मा, अजय सहगल, हंसराज चौधरी, प्रमोद चौधरी, शशि डंगवाल सहित सैकड़ों युवाओं ने भाग लिया।

Never miss any important news. Subscribe to our newsletter.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *